इस त्योहारी सीजन धुंआधार बिकेंगी गाड़ियां, आटो इंडस्ट्री को कारों की बिक्री बढ़ने की उम्मीद

UPDATE:
इससे खुदरा विक्रेताओं को मदद मिली है। आने वाले दिनों में चुनौतियों के बारे में पूछने पर उन्होंने देश के कुछ हिस्सों में अनिश्चित मानसून मुद्रास्फीति के दबाव और चीन-ताइवान युद्ध के खतरे का जिक्र किया। स साल त्योहारी सत्र यात्री वाहनों की बिक्री के लिहाज से सबसे अच्छा रहेगा।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

AUTO UPDATE:

आटो उद्योग को उम्मीद है कि इस त्योहारी सत्र में नई पेशकश और उत्पादन बढ़ने से कारों की बिक्री तेज होगी। हालांकि, त्योहारों के बाद इंडस्ट्री कारोबार को लेकर सतर्क रूप से आशावादी है। त्योहारी सत्र में आमतौर पर आटोमोबाइल की बिक्री में बढ़ोतरी होती है।

इस साल त्योहारी सत्र 11 अगस्त को रक्षाबंधन से शुरू होकर 25 अक्टूबर को दिवाली तक चलेगा। आटोमोबाइल डीलरों के निकाय फाडा के प्रेसिडेंट निकाय के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने बताया, हमें उम्मीद है कि नई पेशकश और बेहतर उत्पादन गतिविधियों के चलते इस साल त्योहारी सत्र यात्री वाहनों की बिक्री के लिहाज से सबसे अच्छा रहेगा।

उन्होंने बताया, उद्योग पिछले चार से पांच महीनों में औसतन तीन लाख से अधिक इकाइयों का उत्पादन कर रहा है। इससे खुदरा विक्रेताओं को मदद मिली है। आने वाले दिनों में चुनौतियों के बारे में पूछने पर उन्होंने देश के कुछ हिस्सों में अनिश्चित मानसून, मुद्रास्फीति के दबाव और चीन-ताइवान युद्ध के खतरे का जिक्र किया।

ऑटो उद्योग को उम्मीद है कि नए लॉन्च और बेहतर उत्पादन के कारण इस त्योहारी सीजन में कारों की बिक्री तेज गति से होगी, लेकिन त्योहारों के समाप्त होने के बाद आगे की सड़क पर सतर्क रूप से आशावादी है। त्योहारी सीजन, जो आमतौर पर ऑटोमोबाइल की बिक्री में बढ़ोतरी का गवाह है, इस साल त्योहारी सीजन 11 अगस्त को रक्षाबंधन के साथ ग्राहक आने वाली सीजन में अपनी जेब ढ़ीली करने के लिए तैयार हैं।